लखनऊ । उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मियां तेज हो गई है सभी राष्ट्रीय और क्षेत्रीय दलों ने  अपनी तैयारियां तेज कर दी हैं ।‌‌ सपा , भाजपा , बसपा और कांग्रेस प्रमुख राजनीतिक दल हैं इनके अलावा छोटी पार्टियां भी उत्तर प्रदेश में कुछ इलाकों में अपना प्रभाव रखती हैं इसमें महान दल, अपना दल , सुभासपा , जनवादी पार्टी , जन अधिकार पार्टी सरीखी पार्टियां भी मैदान में अकेले और गठबंधन के साथ ताल ठोक रही हैं ।

समाजवादी पार्टी का गठबंधन -
समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव  इस बार किसी भी बड़ी पार्टी से गठबंधन करने के बजाए छोटे दलों से गठबंधन पर जोर दे रहे हैं और इसी के मद्देनजर सपा ने छोटे दलों में महान दल , राष्ट्रीय लोक दल,  जनवादी पार्टी सोशलिस्ट,  सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी और अपना दल कमेरावादी से गठबंधन किया है इसके अलावा अन्य कई छोटी पार्टियों को भी अपने साथ समझौते के तहत लिया है समाजवादी पार्टी इस चुनाव में जातीय समीकरणों को ध्यान देते हुए सभी वर्ग और समुदाय को साथ जोड़ने का प्रयास कर रही है। 


यूपी में भाजपा का गठबंधन : यूपी में भारतीय जनता पार्टी को 2017 में ऐतिहासिक जीत मिली थी. बीजेपी ने अकेले 312 सीटों पर जीत हासिल की थी. इस जीत के पीछे सबसे बड़ी रणनीति का हिस्सा विभिन्न जातीय समुदायों का नेतृत्व करने वाले छोटे-छोटे दलों से गठबंधन करना रहा था। 

छोटे दल एक छोटे दायरे में ही सही मगर जातियों के प्रतिनिधित्व करते हैं और यह अपने समुदाय के लीडर होते हैं जो किसी भी तरफ वोट मोड़ने की क्षमता रखते हैं । पिछली बार भाजपा ने ओमप्रकाश राजभर की सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी और अनुप्रिया पटेल के अपना दल यस से गठबंधन किया था जिसका भाजपा को भरपूर फायदा मिला और पिछड़ी जातियों का ज्यादातर वोट बीजेपी के पाले में गया ।

इस बार भारतीय जनता पार्टी से सुभासपा अलग होकर सपा के साथ चुनाव लड़ रही है । इस बार भाजपा के साथ गठबंधन में अपना दल यस और निषाद पार्टी है इसके अलावा हिस्सेदारी मोर्चा नामक कुछ छोटे दलों के गठबंधन ने भी भारतीय जनता पार्टी को समर्थन दिया है ।


कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी ने अभी तक किसी भी छोटे या  बड़े  दल से  गठबंधन नहीं किया है ।


विभिन्न ओपिनियन पोल सर्वे करने वाली एजेंसियों के जो सर्वे आ रहे हैं उसमें सीधे टक्कर भाजपा और सपा के बीच ही दिख रही है । बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस पार्टी अब तक के सर्वे में तीसरे और चौथे स्थान पर ही दिखाई पड़ रही है .


यूपी  पांच सर्वे एजेंसियों के ओपिनियन पोल : 2022



Survey Agency BJP + SP + BSP Congress OTHERS
Patriotic Voter 241 123 21 07 11
Times Now - Polstrat 242 122 30 07 01
Lokpoll 193 151 21 26 12
ABP - C Voter 216 156 18 8 04
DB Live 150 199 16 28 09
Average 208 150 21 15 0

2 टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने